रिवाज :- होली पर इन गांवों में रहता है सन्नाटा, त्योहार मनाने से रखते हैं। ग्रामीण परहेज, क्यों, पढ़िए।….

0
51
हिंदुस्तान टीवी न्यूज़
हिंदुस्तान टीवी न्यूज़

होली पर इन गांवों में रहता है सन्नाटा, त्योहार मनाने से रखते हैं। ग्रामीण परहेज, क्यों, पढ़िए।….

हिंदुस्तान टीवी न्यूज़ :- कुमांऊ। होली का त्योहार पूरे उत्तर भारत में धूमधाम से मनाया जाता है। वहीं देवभूमि में भी होली का उल्लास शुरू हो गया है। बैठकी होली के बाद अब खड़ी होली के साथ ही हर तरफ रंग-गुलाल के बीच ढोल-मंजीरे की थाप सुनाई देनी शुरू हो गई है। लेकिन क्या आप जानते हैं उत्तराखंड में कई गांव ऐसे भी हैं जहां होली नहीं मनाई जाती है। सीमांत पिथौरागढ़ जिले की तीन तहसीलों धारचूला, मुनस्यारी और डीडीहाट के कई गांवों में होली मनाना अपशकुन माना जाता है। इन गांवों में आज भी होली का उल्लास गायब रहता है। यहां के लोग अनहोनी की आशंका में होली खेलने और मनाने से परहेज करते हैं।

यह भी पढ़े :- गजब :- उत्तराखंड का एक ऐसा विधायक जो खुद थे कारपेंटर, बेटा जोड़ता है गाड़ियों के पंचर। ……

कुमाऊं की बैठकी और खड़ी होली देश-दुनियाभर में जानी जाती है। रंग का पर्व यहां धूमधाम से मनाया जाता है। लेकिन कुमाऊं के ही पिथौरागढ़ जिले में चीन और नेपाल सीमा से लगी तीन तहसीलों में होली का उल्लास गायब रहता है। पूर्वजों के समय से चला आ रहा। यह मिथक आज भी नहीं टूटा है। होली के दिनों में जहां पूरे कुमाऊं में उत्साह चरम पर होता है। वहीं इन गांवों में सन्नाटा पसरा रहता है।

हिंदुस्तान टीवी न्यूज़
हिंदुस्तान टीवी न्यूज़

यह भी पढ़े :-  Big Breaking :- होली विशेष: होली की छाई खुमारी, अबीर-गुलाल देख रंगोत्सव में व्याकुल हुआ जाए तन-मन। ……

तहसीलों में होली न मनाने के कारण भी अलग-अलग हैं। मुनस्यारी में होली नहीं मनाने का कारण इस दिन होली मनाने पर किसी अनहोनी की आशंका रहती है। डीडीहाट के दूनाकोट क्षेत्र में अपशकुन तो धारचूला के गांवों में छिपलाकेदार की पूजा करने वाले होली नहीं मनाते हैं।

##हिंदुस्तान टीवी न्यूज़
रिपोर्ट – मोहन नेगी

ओली सीमेंट एजेंसीज एंड बिल्डिंग मैटेरियल्स मेन चौराहा कुटरा समस्त क्षेत्रवासियों का स्वागत करते हैं संपर्क सूत्र📞7902175700 📞9759468416 हमारा व्हाट्सएप नंबर 9759201161

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here